What is the meaning of Depreciation?मूल्यह्रास का अर्थ क्या है?

मूल्यह्रास (Depreciation)

यह अपने निरंतर उपयोग के कारण एक परिसंपत्ति(asset) के मूल्य में कमी है मूल्यह्रास आवंटित की जातीहै ताकि परिसंपत्ति(asset) की उपयोगी जीवन के दौरान प्रत्येक लेखा अवधि में क्षीण राशि का उचितअनुपात बदल सकेअगर परिसंपत्ति का मूल्य कम नहीं होता है तो यह उसके वास्तविक मूल्य को नहींदिखाता है।
दरअसल मूल्यह्रास परिसंपत्ति का घाटा है और इसलिए इसे निम्नलिखित प्रविष्टि में प्रवेश करके अंतिमखातों में समायोजित किया जाना है।

Depreciation A/C Dr

To Asset a/c
मूल्यह्रास का लाभ और हानि के डेबिट पक्ष पर प्रकट होता है
मूल्यह्रास का कारण: –
1-बाजार मूल्य में स्थायी गिरावट.
2-दुर्घटना (जब कोई दुर्घटना तब होती है तो संपत्ति का मूल्य कम हो जाता है.
3-समय का प्रभाव.
4-समय के पास होने के लिए परिसंपत्ति का मूल्य कम हो जाएगा.
5-बाजार में गिरावट.
6-अप्रचलन के कारण.

मूल्यह्रास को गणना करने के लिए कारक
1-संपत्ति की मूल लागत.
2-लागत का अवशिष्ट मूल्य.
3-परिसंपत्ति(asset) का अनुमानित जीवन.
4-संपत्ति अप्रचलित हो जाने का मौका.
5-आय कर अधिनियम.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *