आपूर्ति का अर्थ तथा संभावना

प्र 1. जी.एस.टी. के अंतर्गत कराधीन घटना क्या हे?

प्र 2. ‘आपूर्ति’ का क्या अर्थ है?

प्र 3. एक कराधीन आपूर्ति क्या है?

प्र 4. वे कौन से आवश्यक तत्व होते हैं जो एम.जी.एल. के अंर्तगत आपूर्ति का गठन करते हैं?

प्र 5. क्या एक लेनदेन जिसमें एक या उससे अधिक उपरोक्त मानदंडों को पूरा नहीं किया गया है, अभी भी जी.एस.टी. के अंतर्गत उसे आपूर्ति माना जा सकता है?

प्र 6. धारा 3 की अनुपस्थिति में वस्तुओं का आयात सुस्पष्ट है। क्यों?

प्र 7. क्या निजी-आपूर्ति जी.एस.टी. के अंर्तगत कराधीन है?

प्र 8. क्या माल की आपूर्ति गठित करने के लिए शीर्षक और/या कब्जे का हस्तांतरण एक लेनदेन के लिये आवश्यक है?

प्र 9. “कार्यान्वित करने या व्यापार को आगे बढ़ाने के क्रम में की गई आपूर्ति’ से क्या मतलब हैं?

प्र 10. एक व्यक्ति निजी इस्तेमाल के लिए एक कार खरीदता है और एक साल के बाद उसे डीलर को बेच देता है। क्या वह लेनदेन एम.जी.एल. के अनुसार आपूर्ति होगा? उत्तर के लिये कारण बताएं

प्र 11. एक एयर कडीशनर का व्यापारी अपने व्यापार के स्टॉक से अपने आवास पर निजी इस्तेमाल के लिए एक एयर कडीशनर स्थानांतरित करता है। क्या वह लेन-देन आपूर्ति माना जाएगा?

प्र 12. क्या एक क्लब या संघ या सोसाइटी द्वारा अपने सदस्यों को सेवाओं या वस्तुओं की व्यवस्था करना आपूर्ति के रूप में माना जाएगा?

प्र 13. अंतर-राज्य आपूर्ति और राज्य के भीतर (राज्यान्तरिक) आपूर्ति क्या हैं?

प्र 14. क्या वस्तुओं के उपयोग करने के अधिकार का हस्तांतरण वस्तुओं या सेवाओं की आपूर्ति के रूप में माना जाएगा? क्यों?

प्र 15. क्या काम के अनुबंधों और केटरिंग सेवाओं को वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति के रूप में माना जाएगा? क्यों?

प्र 16. क्या किराया खरीद आधार पर वस्तुओं की आपूर्ति को वस्तुओं की आपूर्ति या सेवाओं की आपूर्ति माना जायेगा? क्यों?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *